Powered by Blogger.

Friday, 31 October 2014

शिवबालक गोस्वामी की गौशाला 
प्रिय पाठको आज हम ऐसे उच्च कोटि के पुरुष के बारे में आपसे अवगत करायेगे,जिसका जीवन सिर्फ गौसेवा में ही बीता हो। शिवबालक गोस्वामी एक महान गौसेवक हैं उनका उद्देस्य केवल गौ सेवा में ही बिता है 
शिव बालक की गौशाला में कई गाये  है ,वे उन गायो को बड़े प्यार से सेवा करते है।  

0 comments:

Post a Comment

 

Shiv Balak Goswami news

श्राबस्ती : द्वापर में गोपाल ने ब्रज में गौ पालन के जरिए समृद्धि जीवन संरक्षण की जो अलकक जगाई थी वो आज भी सीमावर्ती .श्राबस्ती जिले में कायम है .मेल्हा बाबा जैसे सरीखे लोग इस लौ को जलाये हुए है. मेल्हा बाबा गौशल पशुपालक के लिए पाठशाला से काम नहीं.गौशाला में पशुपालन का बेहतर प्रबंध पशुपालक क लिए एक मिशाल है.भारत नेपाल पे स्तित सिरसिआ के अल्लाहाबाद नगर टिटिहीरिया गाओ में 10 ओक्टुबर वर्ष 2013 में चार गयों को खरीद कर आचर्य पूर्व क सिव बालक गोस्वामी उफ़ मेल्हा बाबा ने गौशाला सुरु किआ और इस समय उनकी गौशाला में 152 गायों मौजूद है..गाओ सेवा में जुटे मेला बाबा लावारिश वृद्ध एवं बीमार गायो को अपनाकर गौशाला में लाते है और उनका पालन पोषण करते है.

Shiv Balak Goswami roll

शिव बालक गोस्वामी की गौशाला में गाय माता की सेवा की जाती है वहा पे वो जो भी गाय जो की लावारिस , बीमार अथवा वृद्ध होती है वो उनकी मदत करते है. वो उन्हें अपने गौशाला में ले आते है और उनकी देख भाल करते है.वो उनका पालन पोषण करते है अगर आप को लगता है की हमें अपने गाय मतों को बचाना चाइये तो आप इनकी जरूर मदत करें.अगर आप मदत करना छाती है तो आपन उनके इस एमिअल आइडे पे संपर्क कर सकते है - shivbalagoswami@gmail.com

About

भारत नेपाल पे स्तित सिरसिआ के अल्लाहाबाद नगर टिटिहीरिया गाओ में 10 ओक्टुबर वर्ष 2013 में चार गयों को खरीद कर आचर्य पूर्व क सिव बालक गोस्वामी उफ़ मेल्हा बाबा ने गौशाला सुरु किआ और इस समय उनकी गौशाला में 152 गायों मौजूद है. गयों की सेवा में जुटे मेल्हा बाबा लावारिस वृद्ध एवम बीमार गायों को ला कर अपनाते है और उनका पालन पोषान करते है. वो बताते है की गौव सेवा से बढ़ कर कोई सेवा नहीं होती।अगर आप इनकी सहायता करना चाहते है तो इनसे आप संपर्क कर सकते है इस ईमेल आईडी पेshivbalagoswami@gmail.com